आईपीएल के इतिहास में चेन्नई सुपर किंग्स से ज़्यादा फायदे का सौदा किसी और टीम ने किया होगा. क्योंकि सीएसके ने आईपीएल के पहले सीज़न में ही एमएस धोनी को खरीद लिया था. धोनी की कप्तानी में टीम आठ में से तीन बार चैम्पियन भी बन चुकी है.

आईपीएल के पूर्व सीओओ सुंदर रमन ने बताया कि किस तरह से धोनी के शहर यानी रांची की टीम के आईपीएल में नहीं होने का फायदा सीएसके को मिला.

साल 2008 के आईपीएल ऑक्शन में चेन्नई सुपर किंग्स ने धोनी को 9.5 लाख रुपये में खरीदा था, ये उस सीज़न की सबसे बड़ी बोली थी.

किस टीम को मिला कौन सा खिलाड़ी:

सुंदर रमन ने गौरव कपूर के पॉडकास्ट में बताया कि किस तरह से किसी आइकन खिलाड़ी को नहीं खरीदने का फायदा सीएसके को मिल गया. उन्होंने बताया कि हर टीम अपने आइकन खिलाड़ी को टीम के सबसे महंगे खिलाड़ी से 15% ज़्यादा पैसे दे रही थी.

ऐसे में दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम ने वीरेंद्र सहवाग को पिक किया, मुंबई इंडियंस ने सचिन तेंडुलकर को पिक किया. कोलकाता नाइट राइडर्स सौरव गांगुली के साथ गई. आरसीबी ने राहुल द्रविड़ को चुना. ऐसे में सिर्फ चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स ही उस टूर्नामेंट में दो ऐसी टीमें बचीं. जिनके पास कोई भी आइकन प्लेयर नहीं था.

रमन ने बताया,

”2008 के आईपीएल में ये बात तय थी कि मार्की प्लेयर्स उसके फ्रेंचाइज़ के पास जाएंगे. जैसे मुबंई के लिए सचिन, दिल्ली के सहवाग, पंजाब के लिए युवराज, कोलकाता के लिए गांगुली. लेकिन उस वक्त स्टारडम के चरम पर मौजूद धोनी के पास कोई होम टीम नहीं थी.”

कैसे सीएसके को हो गया बड़ा फायदा:

रमन ने आगे कहा,

”ऐसे में वो क्या करते? उन्होंने चेन्नई को ही अपना घर बना लिया. उस समय आईकॉन प्लेयर की सैलरी फिक्स नहीं होती थी. उसे सबसे महंगे बिके खिलाड़ी से 15% ज़्यादा पैसा दिया जाता था.”

इस चीज़ का फायदा सीएसके को मिला. उनके पास कोई भी आइकन प्लेयर नहीं था. वो अपनी पसंद के खिलाड़ी के लिए बोली लगाने के लिए ज़्यादा सक्षम थे. इस वजह से धोनी चेन्नई के खेमे में चले गए.”

दरअसल जहां बाकी टीमों ने अपनी टीम के सबसे महंगे खिलाड़ी से 15% ज़्यादा रकम अपने मार्की प्लेयर की दी. वहीं सीएसके ने बोली में धोनी पर सबसे मोटा दांव लगा दिया. आईपीएल 2008 के ऑक्शन में दिनेश कार्तिक ने सीएसके में खुद के नहीं चुने जाने पर आश्चर्य जताया था.

इसी तरह 2008 में दिल्ली ने कोहली पर दाव नहीं लगाया. और आरसीबी ने यूथ कॉन्ट्रैक्ट के तहत उन्हें खरीद लिया. 2013 से कोहली RCB के कप्तान हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here