दावा

कोरोना लॉकडाउन के दौरान बिहार के दरभंगा की एक लड़की ज्योति पासवान अपने पिता को गुरुग्राम से दरभंगा तक साइकिल पर बिठाकर ले गई थी. मीडिया में जानकारी आने के बाद देश-विदेश में ज्योति के साहसिक कदम की चर्चा हुई. ख़बरें बनीं, फिल्म निर्माताओं ने फिल्म बनाने के ऐलान किए. साइकिल गर्ल जैसा नाम मिला.

अब सोशल मीडिया पर कुछ तस्वीरें दिखाकर दावा किया जा रहा है कि बिहार के दरभंगा में इस 15 साल की लड़की की हत्या कर दी गई है. दावा है कि ये लड़की बाग से आम चुनने गई थी, वहां रेप के बाद गला रेतकर इसकी हत्या कर दी गई.

हम दावे में बिना कोई बदलाव किए ज्यों का त्यों लिख रहे हैं-

वो बच्ची जो लॉकडाउन में बीमार पिता को साईकिल पर बैठा कर सैंकड़ों KM दूर दरभंगा ले आई थी,उसकी निर्मम हत्या कर दी गई है।आरोप है कि बाग से आम चुनने गई 15 साल की इस लड़की के साथ रेप के बाद गला रेतकर उसकी हत्या कर दी गई.दोषी #अर्जुन_मिश्रा को कड़ी सजा होनी चाहिए #NitishKumar #PMOIndia #narendramodi (आर्काइव लिंक)

वायरल दावा.

टीवी जर्नलिस्ट आस्था कौशिक ने ट्विटर पर ये दावा किया था. हालांकि बाद में उन्होंने ये ट्वीट डिलीट कर दिया. उनके ट्वीट का आर्काइव वर्ज़न यहां देख सकते हैं.

आस्था के ट्वीट को कई यूज़र्स ने कॉपी पेस्ट किया था.

उनके इस ट्वीट के कई लोगों ने हू-ब-हू कॉपी करके अलग-अलग सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर शेयर किया है. फेसबुक पर आस्था के दावे को कॉपी करके शेयर करने उदाहरण यहांयहां और यहां देख सकते हैं.

इसके अलावा ट्विटर पर यहांयहां और यहां आस्था कौशिक के दावे को कॉपी पेस्ट किया गया है.

इसके अलावा इन्हीं तस्वीरों को शेयर करते हुए मिलते जुलते दावे फेसबुक पर किए जा रहे हैं.(आर्काइव लिंक)

इन्हीं तस्वीरों को अलग दावों के साथ शेयर किया जा रहा है.

ट्विटर पर भी मिलते-जुलते दावे किए जा रहे हैं.(आर्काइव लिंक)

अलग दावे के साथ यही फोटोज़.

पड़ताल

‘दी लल्लनटॉप’ ने वायरल दावे की पड़ताल की. हमारी पड़ताल में ये दावा ग़लत निकला. ये सच है कि वायरल तस्वीर में ज़मीन पर पड़ी लड़की की मौत हुई है, मामला भी दरभंगा का है, लेकिन ये साइकिल गर्ल ज्योति पासवान नहीं हैं. नाम और कद-काठी में समानता की वजह से मृतका की फोटोज़ ज्योति पासवान के नाम से फैलाई जा रही हैं

सर्च करने पर हाल के दिनों में दरभंगा में एक लड़की के रेप और मौत से जुड़ी ख़बरें हमें मिलीं. लाइव हिंदुस्तान की रिपोर्ट के मुताबिक, दरभंगा के पतोर ओपी थाना क्षेत्र में 13 साल की एक लड़की (कुछ रिपोर्ट्स में 12 साल) बुधवार, 1 जुलाई को संदिग्ध अवस्था में मृत पाई गई थी.

इस मामले में लल्लनटॉप ने 3 जुलाई को विस्तार से ख़बर की थी. वायरल हो रही तस्वीर इस खबर में देखी जा सकती है.

इंडिया टुडे से जुडे़ पत्रकार प्रह्लाद कुमार ने मृतक के पिता से बात की. पिता का दावा है-

‘1 जुलाई (बुधवार) की सुबह मेरी बेटी घर से बाहर गई थी. काफी देर तक लौटी नहीं, तो हम उसे खोजने निकले. अर्जुन मिश्र के घर तक गए. वो हमें मिला, हमने उनसे पूछा कि क्या वो जानते हैं कि बेटी कहां है? उन्होंने हमें चिल्लाकर भगा दिया, लेकिन मैंने देखा कि वो पसीना-पसीना हो रहा था. इसलिए मेरी पत्नी और मैं पीछे के रास्ते से अर्जुन के बगीचे में गए, जो कि उसके घर के पीछे ही था. वहां पत्तों से पूरी तरह पटी हुई हमारी बच्ची की लाश हमें दिखी. उसके गले में निशान था. हाथ में दो आम थे. सलवार का नाड़ा खुला हुआ था. अर्जुन ने ही मेरी बेटी का रेप करके हत्या की है.’

मृतका के परिवार ने एक पूर्व सैनिक अर्जुन मिश्र, उसकी पत्नी और हरिसुंदर मिश्र पर गला दबाकर हत्या करने का मामला दर्ज कराया है. अर्जुन मिश्र पर रेप का आरोप भी लगाया है.

अर्जुन मिश्र पूर्व सैनिक है. घटना के बाद से वो फरार है. अर्जुन की पत्नी ने पुलिस से इस मामले में क्रॉस FIR दर्ज कराई है. शिकायत के मुताबिक, अर्जुन की पत्नी का कहना है-

‘मेरे घर के पीछे आम का बगीचा और खेत है, जिसे जंगली सुअर बर्बाद कर देते हैं. उनसे बचने के लिए हमने नंगे तार का घेरा बनाया था, जिसमें करंट दौड़ता है. 1 जुलाई की सुबह मृतका बिना किसी को बताए बगीचे में घुस गई. बिजली की तार की चपेट में आने से उसकी मौत हो गई. लेकिन लोग आए और मुझे और मेरे पति को मारने लगे. मेरे पति ने भागकर जान बचाई.’

मामले की पूरी जानकारी के लिए ‘दी लल्लनटॉप’ ने स्थानीय पुलिस से संपर्क किया. मृतका का गांव हायाघाट सर्किल में आता है. सर्किल ऑफिसर कमल प्रसाद झा से हमने बात की. उन्होंने स्पष्ट किया कि-

जो तस्वीर वायरल हो रही है, वो पतौर ओपी थाना क्षेत्र के तहत आने वाले एक गांव में 1 जुलाई को हुई घटना की है. दोनों पक्षों ने मामला दर्ज कराया है. पोस्ट मॉर्टम में करंट लगने से मौत होने की पुष्टि हुई है. लेकिन जांच अभी जारी है. रेप और हत्या के आरोपों की जांच की जा रही है.

पोस्टमार्टम रिपोर्ट सार्वजनिक नहीं की गई है. दरभंगा के SSP बाबू राम ने पोस्टमार्टम की जानकारी देते हुए कहा,

मृतका के साथ दुष्कर्म की बात पोस्टमार्टम रिपोर्ट में नहीं है. मौत की वजह करंट लगना और दम घुटना बताई गई है.

4 जुलाई को दरभंगा भास्कर में प्रकाशित एक रिपोर्ट में भी करंट लगने की बात कही गई है.

4 जुलाई 2020 को प्रकाशित दरभंगा भास्कर के लीड ख़बर.

मृतका और ज्योति पासवान

साइकिल गर्ल ज्योति पासवान का घर दरभंगा के सिंहवाड़ा सर्किल में है. उनके गांव का नाम सिरहुल्ली है. वहीं मृतका का घर हायाघाट सर्किल में आता है. गूगल मैप्स के मुताबिक, दोनों के घरों के बीच क़रीब 30 किलोमीटर की दूरी है. सर्किल ऑफिसर कमल प्रसाद झा और पत्रकार प्रह्लाद कुमार ने भी इस बात की तस्दीक की है.

साइकिल गर्ल ज्योति पर हाल ही में फिल्म बनने की चर्चाओं ने सुर्खियां बटोरी थीं. ज्योति पासवान सुरक्षित हैं और साइकलिंग ट्रायल की तैयारी कर रही हैं.

नतीजा

साइकिल गर्ल ज्योति पासवान सुरक्षित हैं. दरभंगा के पतौर थाना क्षेत्र में 1 जुलाई को ज्योति पासवान नाम की लड़की की मौत हुई थी. पोस्ट मॉर्टम में मौत की वजह बिजली का करंट लगना बताया गया है. मृतका के परिजनों ने हत्या और रेप का आरोप लगाया है. जांच चल रही है. मृतका साइकिल गर्ल ज्योति पासवान नहीं है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here