भारत को हॉकी में लगातार तीन बार ओलंपिक गोल्ड मेडल दिलवाने वाले बलबीर सिंह दोसांझ का 95 की उम्र में, मोहाली के अस्पताल में दिल का दौरा पढ़ने से निधन हो गया। बलबीर सिंह दोसांझ को उनके हॉकी करियर में बलबीर सिंह सीनियर के नाम से भी जाना जाता है। इनका जन्म 10 अक्टूबर उन्हें 1924 हरिपुर खालसा पंजाब में हुआ । यह भारत के पूर्व हॉकी खिलाड़ी व कप्तान रह चुके हैं , इन्होंने भारत को तीन बार गोल्ड मेडल दिलवाने में बहुत ही अहम भूमिका निभाई। बलबीर सिंह के नाम अनेक रिकॉर्ड दर्ज हैं लेकिन उनका सबसे अधिक व्यक्तिगत गोलों का रिकॉर्ड आज भी बरकरार है, यह रिकॉर्ड इन्होंने 1952 में आयोजित हुए ओलंपिक मैच में नीदरलैंड के ख़िलाफ़ 5 गोल मारकर बनाया था। तभी से सफ़र शुरू होता है ,बलबीर सिंह दोसांझ से बलबीर सिंह सीनियर बनने का। इन्होंने अपने हॉकी करियर में अनेकों पदक अपने नाम किये, अपने खेल से लोगों को प्रेरित किया तथा इन्होंने कोच की भूमिका भी बहुत बख़ूबी से निभाई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here