पूरे देश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। देश भर में कुल मरीजों की संख्या एक लाख को पार हो गई है। इस दौरान प्रत्येक दिन महाराष्ट्र और गुजरात से बड़ी संख्या में कोरोना के नए मामले सामने आ रहे हैं। इस बीच बिहार ने भी हर किसी की चिंता बढ़ा दी है। प्रतिदिन यहां हजारों की संख्या में प्रवासी मजदूर पहुंच रहे हैं। कोरोना टेस्ट के आंकड़ों के मुताबिक इनमें से बड़ी संख्या में मजदूर कोरोना वायरस के साथ पहुंच रहे हैं।
18 मई तक बिहार में प्रवासी मजदूरों के 8337 सैंपल लिए गए, जिनमें से करीब 8 फीसदी कोरोना पॉजिटिव पाए गए। जबकि देश में टेस्ट के हिसाब से पॉजिटिव मरीजों की दर सिर्फ 4% है। कोरोना संक्रमित मरीजों के इन आंकड़ों को ध्यान से देखा जाए तो दिल्ली से लौटने वाले ज्यादातर प्रवासी मजदूर कोरोना पॉजिटिव मिल रहे हैं। दिल्ली से आने वाले 835 मजदूरों के सैंपल लिए गए, जिनमें से 218 कोरोना पॉजिटिव निकले। यानी हिसाब लगाया जाए तो ये दर 26 फीसदी से ज्यादा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here