सबसे पहले कोरोना वायरस का फैलाने का आरोप, उसके बाद लद्दाख में चीनी सैनिकों द्वारा कायराना हरकत के कारण, चीन के प्रति पूरे देश में गुस्सा है। पूरे देश में चीन के खिलाफ प्रदर्शन जारी है, लोग चीनी सामान का बहिष्कार कर रहे हैं और अपने घरों से चीनी सामानों को निकाल कर फेंक तथा जला रहे हैं। अनेक शहरों में चीन के प्रति गुस्सा जाहिर किया जा रहा है, प्रदर्शन भी किया जा रहा है, लोगों का कहना है कि हमारे सैनिकों पर गलत तरह से कायराना हरकत कर, वे अपना समान यहां पर कैसे बेच सकते हैं, हम यहां पर चीन के बने सभी वस्तुओं का बहिष्कार करते हैं तथा लोगों और व्यापारियों से भी चीन का वस्तुओं को बहिष्कार करने की अपील करते हैं, इससे चीन की आर्थिक नुकसान होगी, जिससे चीन को सबक मिलेगा।

दिल्ली, मुंबई समेत कई शहरों में प्रदर्शन किया गया, मुंबई में चीन के सामान के बहिष्कार किया गया तथा चीन के बने सामानों को होलिका जलाई गई, कर्नाटक में हुबली में चीन का विरोध किया गया, चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग का तस्वीर को फाड़कर गुस्सा जाहिर किया गया, देहरादून में लोगों ने चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग की तस्वीर जलाई, यूपी के कानपुर में चीन के राष्ट्रपति का पुतला जलाया गया तथा चीन के सामानों का बहिष्कार करने का ऐलान किया गया, कोलकाता में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने चीन का विरोध किया, चीन के बने सामानों को तोड़फोड़ किया गया, चीन के राष्ट्रपति की तस्वीरें को जलाया गया, भारत के अलावा अन्य देशों ने भी कोरोना वायरस फैलने के कारण चीन के खिलाफ दुनिया भर में रोष जाहिर किया गया और बड़े-बड़े शक्तिशाली देश भी चीन का आर्थिक रूप से बायकाट करने पर विचार कर रहे हैं, इस प्रस्ताव को जापान, फ्रांस, अमेरिका, कनाडा, ब्रिटेन तथा और भी बड़े देशों ने इसका समर्थन किया है, अमेरिका ने लगभग 200 चीनी कंपनियों को बाहर जाने के लिए तैयार रहने को कहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here