कुछ दिन पहले, भारत और चीन के बीच हुई गोलीबारी में भारत के 20 जवानों के शहीद होने की खबर आई थी, तब से आले दर्जे के अधिकारी चीन के अधिकारियों से बातचीत करके इस मामले को शांत करना चाहते हैं। वैसे में भारत के अनेक नेताओं ने चीनी वस्तुओं के बहिष्कार पर अलग-अलग टिप्पणियां की है। बिहार में भी जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व सांसद पप्पू यादव ने भी चीनी वस्तुओं का बहिष्कार करने के लिए आगे आए हैं। उन्होंने गुरुवार को बिहार की राजधानी पटना में अपने समर्थकों के साथ मिलकर चीनी वस्तुओं का बहिष्कार किया तथा अभिनेताओं और क्रिकेटरों से भी चीनी वस्तुओं का विज्ञापन न करने की अपील की है।

पप्पू यादव ने जेसीबी मशीन के सारे मोबाइल कंपनियों के विज्ञापनों पर कालिख लगाते हुए दिखे। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी बिहार में लगे चीनी वस्तुओं के विज्ञापनों का बहिष्कार करेगी। उन्होंने व्यापारियों तथा जनता से भी चीनी वस्तुओं को बहिष्कार करने की अपील की है। पप्पू यादव ने कहा कि चीन की सेना वास्तविक नियंत्रण रेखा का उल्लंघन किया है तथा भारतीय सेना भारतीय सीमा में घुसकर धोखे से हमारे जवानों को मारा है। हम चीनी वस्तुओं का बिहार करेंगे, जिससे चीन को आर्थिक नुकसान होगा तथा कड़ा सबक मिलेगा। इस मौके पर जन अधिकार पार्टी प्रमुख प्रेमचंद्र सिंह ने कहा कि हम पटना से सारे चीनी विज्ञापनों को हटा देंगे। हम बर्दाश्त नहीं करेंगे कि जिस देश के सैनिकों ने हमारे सैनिकों को मारा और उनकी सामान हमारे यहां बिके। राष्ट्रीय महासचिव राजेश रंजन पप्पू ने भी सैनिकों के सम्मान के लिए चीनी वस्तुओं की बहिष्कार करने की अपील की। बताते चलें कि लद्दाख के गलवान घाटी में भारत चीन सीमा पर हुई इस गोलीबारी में 20 जवान शहीद हो गये, जिसमें 6 सैनिक बिहार के रहने वाले थे। तब से पूरे भारत में चीन के प्रति गुस्सा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here