बिहार के मुख्यमंत्री (सीएम) नीतीश कुमार ने अधिकारियों से कहा है कि बाहर से आने वाले लोगों के कारण, कोरोना वायरस चेन फिर से बन रही है. इस चेन को तोड़ने के लिए जांच का दायरा बढ़ाना आवश्यक है. उन्होंने कोरोना से लड़ाई में धैर्य रखने की भी अपील की.

संक्रमण को रोकने के लिए सभी को रहना होगा सतर्क

मुख्यमंत्री ने कहा कि संक्रमण फैलने से रोकने के लिए हम सभी को और सतर्क रहना होगा. वृद्ध लोगों और अन्य गंभीर बीमारियों से पीड़ित लोगों पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है. दवाओं, पीपीई किट, एन -95 मास्क और अन्य चिकित्सा उपकरणों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए आपूर्ति श्रृंखलाओं पर निरंतर निगरानी रखी जानी चाहिए.

लॉकडाउन में रोजगार पर विचार करने की जरूरत

मुख्यमंत्री ने कहा कि तालाबंदी में प्रभावित श्रमिकों, कामगारों, किसानों, छोटे दुकानदारों और अन्य जरूरतमंदों की आजीविका को ध्यान में रखते हुए आगे बढ़ने की जरूरत है. तालाबंदी के कारण उनका रोजगार प्रभावित हुआ है. इसे ध्यान में रखते हुए विचार करने की आवश्यकता है. रोजगार सृजन पर चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि मनरेगा और अन्य विभागों में रोजगार सृजन की निरंतर निगरानी होनी चाहिए. यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि अधिकतम मानव दिवस बनाए जाएं.

प्रखंड व पंचायतस्तरीय क्वारंटाइन सेंटर का हो निरीक्षण

मुख्यमंत्री ने कहा कि ब्लॉक और पंचायत स्तर के क्वारेंटाइन केंद्र की व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया जाना चाहिए. जो लोग वहां रह रहे हैं उनसे बात करें, क्वारेंटाइन सेंटर से फीडबैक लें. संगरोध केंद्रों पर रहने वाले लोगों के लिए, एसओपी के अनुसार सभी व्यवस्थाएं जारी रहे.

कोरोना संक्रमण की गंभीरता को समझें, धैर्य रखें लोग

उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण की गंभीरता को समझना होगा. लोग धैर्य बनाए रखें. गाइडलाइन के अनुरूप फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करें तभी कोरोना को हराने में सफलता मिलेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here