DELHI : कोरोना संकट की महामारी के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को एक बार फिर से संबोधित किया है. राष्ट्र के इस संबोधन में पीएम मोदी ने कई बड़ी बातें देशवासियों से कही. उन्होंने कहा कि भारत में फिलहाल लॉकडाउन को खत्म नहीं किया जा सकता है. पीएम मोदी ने कहा कि 18 मई से पहले लॉकडाउन-4 के बार में सूचना लोगों को दी जाएगी. इसके साथ ही पीएम मोदी ने ग्लोबल नहीं बल्कि देश को लोकल की ओर बढ़ने का अपील किया है.

पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना संकट ने हमें लोकल मनुफ्रैक्चरिंग, लोकल मार्केट, लोकल सप्लाई चेन का भी महत्व समझाया है. संकट के समय में लोकल ने ही हमारी डिमांड पूरी की है. हमें इस लोकल ने ही बचाया है. लोकल सिर्फ जरूरत नहीं, बल्कि हमारी जिम्मेदारी है. समय ने हमें सिखाया है कि लोकल को हमें अपना जीवन मंत्र बनाना ही होगा. पीएम मोदी ने कहा कि आपको आज जो ग्लोबल ब्रांड लगते हैं वो भी कभी ऐसे ही बिल्कुल लोकल थे. लेकिन जब वहां के लोगों ने उनका इस्तेमाल शुरू किया, उनका प्रचार शुरू किया, उनकी ब्रांडिंग की, उन पर गर्व किया, तो वो प्रोडक्ट, लोकल से ग्लोबल बन गए. इसलिए, आज से हर भारतवासी को अपने लोकल के लिए वोकल बनना है, न सिर्फ लोकल प्रोडक्ट्स खरीदने हैं, बल्कि उनका गर्व से प्रचार भी करना है. पीएम ने कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि हमारा देश ऐसा कर सकता है. आपके प्रयासों ने, तो हर बार, आपके प्रति मेरी श्रद्धा को और बढ़ाया है. मैं गर्व के साथ एक बात महसूस करता हूं, याद करता हूं. जब मैंने आपसे, देश से खादी खरीदने का आग्रह किया था. ये भी कहा था कि देश के हैंडलूम वर्कर्स को सपोर्ट करें. आप देखिए, बहुत ही कम समय में खादी और हैंडलूम, दोनों की ही डिमांड और बिक्री रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई है. इतना ही नहीं, उसे आपने बड़ा ब्रांड भी बना दिया. बहुत छोटा सा प्रयास था, लेकिन परिणाम मिला, बहुत अच्छा परिणाम मिला.

पीएम मोदी ने कहा कि लॉकडाउन का चौथा चरण यानी कि लॉकडाउन 4 पूरी तरह नए रंग रूप वाला होगा. यह नए नियमों वाला होगा. राज्यों से हमें जो सुझाव मिल रहे हैं, उनके आधार पर लॉकडाउन 4 से जुड़ी जानकारी भी आपको 18 मई से पहले दी जाएगी. इसके साथ ही पीएम मोदी ने देश के लिए 20 लाख करोड़ रुपए के बड़े पैकेज का एलान किया है. उन्होंने कहा कि 20 लाख करोड़ रुपए का संबल मिलेगा. 20 लाख करोड़ रुपए का ये पैकेज, 2020 में देश की विकास यात्रा को, आत्मनिर्भर भारत अभियान को एक नई गति देगा.

पीएम ने कहा कि आत्मनिर्भरता हमें सुख और संतोष देने के साथ-साथ सशक्त भी करती है. आत्मनिर्भर भारत के प्रण से 130 करोड़ देशवासियों की प्राणशक्ति से ही ऊर्जा मिलेगी. आज से हर भारतवासी को अपने लोकल के लिए ‘वोकल’ बनना है. न सिर्फ लोकल प्रोडक्ट खरीदने हैं, बल्कि उनका गर्व से प्रचार भी करना है. मुझे पूरा विश्वास है कि हमारा देश ऐसा कर सकता है.

पीएम मोदी ने कहा कि ये आर्थिक पैकेज देश के उस श्रमिक के लिए है, देश के उस किसान के लिए है जो हर स्थिति, हर मौसम में देशवासियों के लिए दिन रात परिश्रम कर रहा है. ये आर्थिक पैकेज हमारे देश के मध्यम वर्ग के लिए है, जो ईमानदारी से टैक्स देता है, देश के विकास में अपना योगदान देता है. पीएम मोदी ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत के संकल्प को सिद्ध करने के लिए, इस पैकेज में लैंड, लेबर, लिक्विलिटी और लॉ, सभी पर बल दिया गया है. ये आर्थिक पैकेज हमारे कुटीर उद्योग, गृह उद्योग, हमारे लघु-मंझोले उद्योग, हमारे MSME के लिए है, जो करोड़ों लोगों की आजीविका का साधन है, जो आत्मनिर्भर भारत के हमारे संकल्प का मजबूत आधार है.

Input – bihar1

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here