लॉकडाउन के बीच अपने घर जाने के लिए हजारों किलोमीटर यात्रा करते मजदूरों की तस्वीरें देशभर से आ रही है। मजदूरों की यह स्थिति सरकार और प्रशासन के नकारेपन को साबित करने के लिए काफी है। इसी बीच रविवार 10 मई को मदर्स डे पर ऐसे ही एक मजदूर की वीडियो वायरल हो रही है जिसे देखकर कोई भी भावुक हो सकता है।

दरसअल, एक मजदूर अपनी 90 साल की बुजुर्ग मां को साइकिल पर बैठा लगभग एक महीने चार दिन से साइकिल चला रहा है। यह युवक बैंगलोर से हजारों किलोमीटर दूर अपने घर राजस्थान के बूंदी जाने के लिए साइकिल से निकला है। पिछले एक महीना चार दिनों से लगातार साइकिल चला रहे इस मजदूर की शरीर भले पसीने से तर-बतर है व थकान चेहरे पर साफ दिख रही है परंतु उसने हौसला नहीं हारी है।

चेहरे की थकान को अपनी मुस्कान से ढकते हुए कलयुग का यह श्रवण कुमार जल्द ही घर पहुंचने की बात कर रहा है। उसका कहना है कि वह भले पिछले 34 दिनों से सड़क पर साइकिल चलाने के बावजूद अबतक अपने घर नहीं पहुंच पाया हो पर जल्द ही वह पहुंच जाएगा। बताया जा रहा है कि इनके ग्रुप में करीब 25 लोग हैं जो एकसाथ बैंगलोर से राजस्थान जाने के लिए निकले हैं। कलयुगी श्रवण कुमार के इस वीडियो को हजारों लोग सोशल मीडिया पर शेयर कर सलाम कर रहे हैं।

Input – ABP

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here