मोतिहारी। राजस्थान के कोटा में फंसे 1646 छात्रों को लेकर स्पेशल ट्रेन आज सुबह बापूधाम मोतिहारी स्टेशन पहुंची।

मोतिहारी डीएम शीर्षत कपिल अशोक एसपी नवीन चन्द्र झा व सीएस रिजवान अहमद के अलावा जिले के प्रशासनिक व पुलिस पदाधिकारी छात्रों के स्वागत के लिए फूल लेकर खड़े थे। छात्रों के ट्रेन से उतरते ही तालियां बजाकर पदाधिकारियों ने स्वागत किया। फिर डीएम श्री अशोक व अन्य पदाधिकारियों ने छात्रों के हाथों में फूल देकर उन्हें वेलकम किया। 

कोटा से चली स्पेशल ट्रेन में पूर्वी चंपारण, पश्चिम चंपारण और गोपालगंज के छात्र मौजूद थे। छात्रों को होम क्वांटरिन किया जाएगा।

चिकित्सकों के 24 टीमों में शामिल डॉ खालिद अख्तर की मेडिकल टीम शामिल थी। चिकित्सक डॉ अख्तर ने देशवाणी को बताया कि छात्रों को उनके घरों में ही होम क्वांटरिन किया जाएगा।जरूर पड़ने पर उनके छात्रों के संबंधित प्रखंड स्थित बने आइसोलेशन सेंटर पर भी रखा जा सकता है। 

स्पेशल ट्रेन के यहां स्टेशन पर पहुंचते ही रेलवे सुरक्षा बल, रेल पुलिस और जिला पुलिस के अधिकारी व जवान अपनी सुरक्षा घेरे में आ गए। उसके बाद स्टेशन पर तैनात 24 चिकित्सकों के दल द्वारा सभी 24 बोगियों से उतरने वाले छात्र-छात्राओं के स्वास्थ्य की जांच की गई। इसके बाद बापूधाम स्टेशन पर शारीरिक दूरी बनाते हुए प्लेटफार्म पर बने गोल घेरे के माध्यम से छात्रों को स्टेशन से बाहर निकाला गया।

स्टेशन पर छात्रों के किसी भी अभिभावक के प्रवेश पर रोक लगाई गई थी। बता दें कि यह विशेष ट्रेन कोटा जंक्शन से बुधवार की सुबह 11 बजे कोटा से चली थी, इसमें शयनयान के 18, साधारण के 4 एवं एसएलआर के 02 कोच मौजूद सहित 24 कोच लगे हैं।  
कोटा से आए सभी छात्रों को स्क्रीनिंग के बाद गृह जिला भेज दिया जाएगा। इस स्पेशल ट्रेन से पूर्वी चंपारण के 550, पश्चिम चंपारण के 750 और गोपालगंज के 346 छात्र आए हैं। छात्रों को गृह जिला भेजने के लिए बसों की व्यवस्था की गई थी। पूर्वी चम्पारण के लिए 22, पश्चिम चंपारण के लिए 30 व गोपालगंज के लिए 14 बसों की व्यवस्था थी। 

Input – deshvani

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here