बंगाल में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को राज्य में लॉकडाउन को 31 जुलाई तक के लिए बढ़ाने की घोषणा की। इस अवधि के दौरान राज्य में लोकल ट्रेनें और मेट्रो सेवाओं को फिर से शुरू करने की भी इजाजत नहीं होगी। इसके साथ सभी स्कूल- कॉलेजों और अन्य शैक्षणिक संस्थान भी बंद रहेंगे। कोरोना संकट पर इस दिन राज्य सचिवालय नवान्न में सर्वदलीय बैठक के बाद मुख्यमंत्री ने इसकी घोषणा की। ममता ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि बंगाल सरकार ने कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लॉकडाउन बढ़ाने का निर्णय लिया है।

हालांकि उन्होंने कहा कि जिन क्षेत्रों में पहले से छूट दी गई है वह जारी रहेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि कंटेनमेंट जोन में लाकडाउन का सख्ती से पालन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि बंगाल सहित देशभर में कोविड-19 स्थिति लगातार बिगड़ रही है। उसके मद्देनजर यह फैसला लिया गया है। हालांकि बैठक में विभिन्न दलों की अलग-अलग राय थी। सभी लॉकडाउन बढ़ाए जाने को लेकर एकमत नहीं थे।

माकपा के राज्य सचिव सूर्यकांत मिश्रा ने कहा कि लॉकडाउन के संबंध में बनी कमेटी को ही फैसला लेना चाहिए। उल्लेखनीय है कि इससे पहले बंगाल सरकार ने 30 जून तक लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा की थी। वहीं, सभी शिक्षण संस्थानों को भी 31 जुलाई तक बंद रखने की राज्य सरकार ने पहले ही घोषणा की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here