कांग्रेस नेता और वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने फिर से पीएम कार्स (प्रधानमंत्री नागरिक सहायता और आपातकालीन राहत) के ऑडिट की मांग की है। गांधी ने शुक्रवार को पत्रकारों के सामने भी इस मुद्दे को उठाया था और शनिवार शाम को एक बार फिर ट्वीट कर उन्होंने केंद्र सरकार को निशाने पर लिया है। राहुल कोरोना के मद्देनजर चल रहे तालाबंदी के दौरान गरीब, मजदूर, किसान और देश की गिरती अर्थव्यवस्था लगातार सरकार को घेरे हुए है।

दरअसल, वैश्विक महामारी कोरोना से लड़ने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पीएम केयर्स नाम से ट्रस्ट के गठन किया है। प्रधानमंत्री इस ट्रस्ट के पदेन अध्यक्ष हैं वहीं गृह मंत्री, रक्षा मंत्री व वित्त मंत्री इस ट्रस्ट के सदस्य हैं। इसके पहले अबतक भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू द्वारा गठित PMNRF (Prime minister national relief fund) के जरिए ही लोग पीएमओ को आपदा से लड़ने के लिए दान देकर सहयोग करते थे। प्रधानमंत्री राष्ट्रीय आपदा कोष पर पूर्ण नियंत्रण प्रधानमंत्री कार्यालय का होता है जिसे थर्ड पार्टी के जरिए ऑडिट की जाती है। पीएम केयर्स को कौन ऑडिट करेगा या फिर उसका लेखा-जोखा दिया भी जाएगा या नहीं यह स्पष्ट नहीं है।

राहुल ने ट्वीट कर प्रधानमंत्री से अपील की है कि सरकार जल्द से जल्द पीएम केयर्स के बारे में जानकारियां सार्वजनिक करे। राहुल ने कहा कि पीएम केयर्स में बहुत बड़ा रकम आया है इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि प्रधानमंत्री इसे ऑडिट करवाएं व जनता से इसे साझा करें। उन्हें सब के सामने यह सुनिश्चित करना चाहिए कि पीएम केयर्स में कितने पैसे आए और कितने खर्च हुए ताकि पारदर्शिता बनी रहे। जनता को सारा रेकॉर्ड देना सरकार की जिम्मेदारी है। बता दें कि इसके पहले मोदी सरकार द्वारा बनाए गए इस ट्रस्ट को उच्चतम न्यायालय में चुनौती भी दी गई थी।

Input – ABP

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here