बिहार विधानपरिषद की नेता प्रतिपक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने कोरोना वायरस के संक्रमण से जूझ रहे राज्य के नागरिकों को हो रही परेशानियों और क्वारेंटाइन सेंटर में लोगों को हो रही असुविधा को लेकर राज्य सरकार पर हमला बोला है. पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने एक के बाद एक कुल चार ट्वीट कर सरकार पर हमला किया है और मीडिया पर लगाये गए प्रतिबन्ध पर भी सरकार पर निशाना साधा है. साथ ही कहा है कि यदि सरकार ने 24 घंटे के अंदर में व्यवस्था में सुधार नहीं की तो वे मजदूरों के साथ खड़ी हैं और उनके हित में बड़ा फैसला ले सकती हैं.

पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने पहले ट्वीट में कहा कि सरकार के तरफ़ से मीडिया का प्रवेश वर्जित किया गया है ताकि सरकार का असली चेहरा बाहर उजागर न हो सके. भ्रष्टाचार चरम पर है. अधिकारी सब लूट रहा है. जनप्रतिनिधि दरकिनार है. क्वारंटाइन सेंटर में बदइंतज़ामी का आलम ये है कि लोग मानसिक अवसाद के शिकार होते जा रहें तो कुछ लोग वहाँ से भागने को भी मजबूर हो रहे हैं.

Rabri Devi

@RabriDeviRJD

बिहार के क्वारंटाइन सेंटरों में बाहर से आए अप्रवासी मज़दूरों के लिए खाने व अन्य बुनियादी सुविधाओं की कोई व्यवस्था नहीं है।इस कारण इन प्रवासी मजदूरों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। अधिकारी वहाँ आवासित लोगों को खाना माँगने पर मारपीट कर प्रताड़ित कर रहे है।

Rabri Devi

@RabriDeviRJD

सरकार के तरफ़ से मीडिया का प्रवेश वर्जित किया गया है ताकि उनका असली चेहरा बाहर उजागर न हो सके। भ्रष्टाचार चरम पर है। अधिकारी सब लूट रहा है। जनप्रतिनिधि दरकिनार है। बदइंतज़ामी का आलम ये है कि लोग मानसिक अवसाद के शिकार होते जा रहें तो कुछ लोग वहाँ से भागने को मजबूर हो रहें।

69 people are talking about this

अधिकारियों पर लगाया प्रताड़ना का आरोप:

राबड़ी देवी ने अपने अगले ट्वीट में लिखा है कि राज्य के क्वारंटाइन सेंटरों में बाहर से आए अप्रवासी मज़दूरों के लिए खाने व अन्य बुनियादी सुविधाओं की कोई व्यवस्था नहीं है. इस कारण इन प्रवासी मजदूरों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. अधिकारी वहाँ आवासित लोगों को खाना माँगने पर मारपीट कर प्रताड़ित कर रहे हैं.

Rabri Devi

@RabriDeviRJD

बिहार के क्वारंटाइन सेंटरों में बाहर से आए अप्रवासी मज़दूरों के लिए खाने व अन्य बुनियादी सुविधाओं की कोई व्यवस्था नहीं है।इस कारण इन प्रवासी मजदूरों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। अधिकारी वहाँ आवासित लोगों को खाना माँगने पर मारपीट कर प्रताड़ित कर रहे है।

199 people are talking about this

क्वारंटाइन सेंटर को बताया यातना गृह:

पूर्व सीएम यही नहीं रूकीं, उन्होंने अपने अगले ट्वीट में क्वारंटाइन सेंटर की तुलना यातना गृह से कर दी. उन्होंने लिखा कि ये क्वॉरंटीन सेंटर यातना सेंटर बन गये है। जब सरकार को इन परेशान लोगों का सहारा बनना चाहिए,उन्हें विश्वास दिलाना चाहिए की इन लोगों के स्वास्थ्य और आर्थिक सुरक्षा की ज़िम्मेदारी सरकार की है तब निर्दयी बिहार सरकार उनके साथ बदसलूकी की सारी हदें पार कर रही है.

Rabri Devi

@RabriDeviRJD

इतिहास में इतना ग़रीब विरोधी और संकीर्ण मानसिकता वाली सरकार नहीं रही होगी। बिहार सरकार प्रवासी मज़दूरों की लगातार उपेक्षा करते आ रही।क्वॉरंटीन सेंटरों में बिस्तर, शौचालय, पानी, खाना इत्यादि का कोई प्रबंध नहीं है।खाना के नाम पर नून-भात, स्वास्थ्य जाँच के नाम पर काग़ज़ी ख़ानापूर्ति

Rabri Devi

@RabriDeviRJD

ये क्वॉरंटीन सेंटर यातना सेंटर बन गये है। जब सरकार को इन परेशान लोगों का सहारा बनना चाहिए,उन्हें विश्वास दिलाना चाहिए की इन लोगों के स्वास्थ्य और आर्थिक सुरक्षा की ज़िम्मेदारी सरकार की है तब निर्दयी बिहार सरकार उनके साथ बदसलूकी की सारी हदें पार कर रही है।बेहद अफ़सोसनाक और चिंतनीय

67 people are talking about this

सरकार को दिया 24 घंटे का अल्टीमेटम:

उन्होंने आगे सरकार को अल्टीमेटम देते हुए कहा कि हम अपने ग़रीब भाइयों के साथ खड़े हैं और अगले 24 घंटे में सरकार व्यवस्था सुधारें. जिस सरकार में संवेदना, करुणा और अपनत्व का अभाव हो तो उसे कोई हक़ नहीं है सत्ता में रहने का. इन ग़रीबों की गरिमा और आत्मसम्मान के साथ भेदभाव क़तई बर्दाश्त नहीं होगा.

Rabri Devi

@RabriDeviRJD

हम अपने ग़रीब भाइयों के साथ खड़े हैं और सरकार से आग्रह करते है कि अगले 24 घंटे में व्यवस्था सुधारें। जिस सरकार में संवेदना, करुणा और अपनत्व का अभाव हो तो उसे कोई हक़ नहीं है सत्ता में रहने का। इन ग़रीबों की गरिमा और आत्मसम्मान के साथ भेदभाव क़तई बर्दाश्त नहीं होगा।

378 people are talking about this

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here