पिछले दो दिनों से बिहार में भारी बारिश के चलते लोगों को बहुत कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है, लोगों को कामकाज पर जाने के लिए भी काफ़ी दिक़्क़त हो रही है। ख़बर है कि पटना में मौसम का ऐसा क़हर लगभग दो दशकों बाद देखने को मिला है। भारी बारिश से पटना के मौसम में काफ़ी ठंडक आयी है, पटना का पारा पिछले 24 घंटों में 8 डिग्री तक नीचे गिरा है।
मौसम विभाग का मानना है कि अगले 36 घंटे तक पटना को इस भारी बारिश का सामना करना पड़ेगा, इसी कारण पटना को हाई अलर्ट पर रखा गया है तथा मानसून ट्रफ हिमालय के तराई क्षेत्र की ओर है। इस वजह से उत्तर बिहार और सीमांचल के इलाकों में भारी बारिश की स्थिति बनी रहेगी।
मौसम विभाग के अनुसार उत्तर-मध्य और उत्तर-पूर्व बिहार में भारी बारिश की संभावना है। चंपारण, गोपालगंज, सीवान, अररिया, किशनगंज समेत कुछ अन्य ज़िलों में भी हाई अलर्ट है। भारी बारिश के चलते लगातार बाढ़ के आसार बने हुए हैं कोसी बागमती और गंडक नदियां उफान पर हैं, इन नदियों का जलस्तर लगातार बढ़ता जा रहा है। बिहार की ऐसी स्थिति को देखकर अमित शाह ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से कहा कि वह बिहार की हर संभव मदद के लिए तैयार हैं। बिहार में बाढ़ के मुद्दे को लेकर नीतीश कुमार ने समीक्षा बैठक की तथा अधिकारियों को इस मुसीबत से लड़ने के लिए प्रबंध करने को कहा ताकि आपदा के समय बिहार के लोगों को ज़्यादा मुसीबत न हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here