रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) गवर्नर शक्तिकांत दास ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस की,

इस दौरान गवर्नर शक्तिकांत दास ने रेपो रेट में 0.40% की कटौती करने की घोषणा की है।

अब रेपो रेट 4.40 प्रतिशत से घटकर 4 प्रतिशत हो जाएगा। वहीं, रिवर्स रेपो रेट 3.75% से घटाकर 3.35% किया गया।

लोन की किश्त चुकाने में छूट का समय तीन महीने के लिए बढ़ा दिया गया है।

अब अगस्त तक इसका फायदा मिलता रहेगा। गवर्नर ने यह भी बताया कि मॉनिटरी पॉलिसी कमेटी के 6 में से 5 सदस्यों ने रेपो घटाने के पक्ष में हैं।

गवर्नर शक्तिकांत दास ने यह भी बताया कि कमेटी की मीटिंग 3 जून से होनी थी, लेकिन पहले ही कर ली गई है।

 *रिवर्स रेपो दर 3.35 प्रतिशत तक कम हो गई*

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि ,
कोरोना वायरस के वजह से अर्थव्यवस्था को बड़ा नुकसान हुआ है।
मौद्रिक नीति समीक्षा समिति (MPC) ने रेपो रेट में कटौती करने का फैसला किया है।
रेपो रेट में 40 आधार अंकों की कटौती के साथ रेपो रेट 4.4 प्रतिशत से घटकर 4 प्रतिशत हुआ।
रिवर्स रेपो दर 3.35 प्रतिशत तक कम हो गई है।

*2021 में विकास दर नकारात्मक रहने की संभावना*

आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने बताया कि कोर इंडस्टिरीज के आउटपुट में 6.5% की कमी हुई है और मैन्युफेक्चरिंग में 21 फीसदी की गिरावट हुई है।  मार्च में औद्योगिक उत्पादन में 17 प्रतिशत की कमी दर्ज की गई है।
मांग और उत्पादन में कमी आई है।
वहीं खरीफ की बुवाई में 44 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।
अप्रैल महीने में निर्यात में 60.3 प्रतिशत की कमी आई है।
2021 में विकास दर नकारात्मक रहने की संभावना है।

*दुनिया में कारोबार इस साल 13-32 प्रतिशत तक घट सकता है*

आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने बताया कि अप्रैल में ग्लोबल मैन्युफैक्चरिंग पीएमआई घटकर 11 साल के निचले स्तर पर पहुंच गया है।
डब्ल्यूटीओ के अनुसार, दुनिया में कारोबार इस साल 13-32 प्रतिशत तक घट सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here