बिहार के उपमुख्यमंत्री तथा भाजपा के वरिष्ठ नेता के तौर पर कार्यरत सुशील कुमार मोदी ने लालू प्रसाद और उनके पूरे परिवार पर निशाना साधते हुए ट्वीट जारी किया। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा लालू प्रसाद यादव के शासन में बिहार चुनाव बेहद बदनाम था उस वक़्त बूथ लूट जैसी घटनाओं में भी लोगों की जानें जाती थी, चुनाव आयोग ने इस गंभीर समस्या का समाधान ढूंढते हुए बिहार में EVM मशीन लाने का निर्णय किया, और बिहार का कलंक ख़त्म किया।
उसके बाद सुशील कुमार मोदी ने कहा लालू प्रसाद यादव EVM मशीन का भी विरोध करते हैं, EVM मशीन द्वारा ग़रीब लोगों को वोट देने का मौक़ा मिला और उनकी तेल पिलाई लाठियां किसी काम न आ सकी।
जहाँ डीज़ल और पेट्रोल पर लाखों रुपये ख़र्च किये बिना लोगों से संवाद कर सकते हैं। जो लोग डीज़ल और पेट्रोल बचाने के लिए साइकिल चलाते हुए फ़ोटो शेयर करते हैं आख़िर वह आभास रैली का विरोध क्यों कर रहे हैं?
बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी कहते हैं कोरोना महामारी के चलते संपूर्ण देश के तौर तरीक़े बदल चुके हैं लोगों की पहली प्राथमिकता उनका जीवन है। लेकिन लालू प्रसाद यादव इस वास्तविकता को सिरे से नकारते हैं और आभासी रैली का विरोध करते हैं। वह ग़रीब मतदाताओं के लिए नहीं बल्कि अपने हाथ में सत्ता लाने का सोच रही है।
अंत में वे कहते हैं जब पूरा देश एक तरफ़ कोरोना जैसी महामारी से जूझ रहा है तब भी RJD सुरक्षित और कम खर्चीली आभासी रैली के ख़िलाफ़ थाली पीटी है। लालू प्रसाद यादव ने फ़िलहाल इस पूरे मुद्दे पर अभी कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here