दिल्ली के विधानसभा चुनाव खत्म होते ही अब बिहार चुनाव की तैयारी शुरू हो गई है. चुनाव अक्टूबर-नवंबर में होंगे, लेकिन बिहार की पॉलिटिक्स खबरों में अपनी जगह बनाने लगी है. अब एक नाम चर्चा में आया है. पुष्पम प्रिया चौधरी का. अखबारों के पहले पन्ने पर इनके बड़े-बड़े ऐड छपे हैं. प्रिया ने नई पार्टी बनाई है. Plurals. उन्होंने 2020 के बिहार विधानसभा चुनाव के लिए खुद को CM पद का उम्मीदवार घोषित किया है.

कौन हैं ये पुष्पम प्रिया चौधरी?

जनता दल (यूनाइटेड) के नेता और विधान परिषद के सदस्य (MLC) रह चुके विनोद चौधरी की बेटी हैं.  मूल रूप से दरभंगा की हैं. लंदन के मशहूर लंदन स्कूल ऑफ इकॉनमिक्स से इन्होंने पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन में मास्टर्स की डिग्री ली है. प्लूरल्स पार्टी की प्रेसिडेंट हैं. इनकी पार्टी के साथ जो लोगो बना हुआ है, वो पंखों वाले घोड़े का है.

प्लूरल्स का एक ऐड जो सोशल मीडिया पर भी चल रहा है. इसके ज़रिए  पुष्पम एक प्रोग्रेसिव बिहार यानी बढ़ते हुए बिहार की बात कर रही हैं.

पुष्पम के पिता विनोद चौधरी नीतीश के करीबी हैं. पुष्पम का सीएम कैंडिडेट बनकर चुनाव में खड़े होना सीधे-सीधे नीतीश को चुनौती देना है. उन्हीं के पार्टी के लीडर की बेटी उन्हें चैलेन्ज कर रही है. इसे लेकर विनोद चौधरी से भी सवाल पूछे जा रहे हैं. ANI को दिए एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा,

वो बालिग है और पढ़ी-लिखी भी है. ये उसका फैसला है. अगर वो पार्टी (JDU) की टॉप लीडरशिप को चुनौती देगी तो जाहिर है कि पार्टी उसका समर्थन नहीं करेगी.

ANI

@ANI

Janata Dal (United) leader Vinod Choudhary on his daughter Pushpam Priya Choudhary declaring herself as Chief Minister candidate for Bihar 2020: She is adult and educated, this is her decision. Party will of course not support it if she is challenging top leader of the party.

View image on Twitter
45 people are talking about this

क्या है पुष्पम प्रिया चौधरी का लक्ष्य?

जो इश्तहार उन्होंने अखबार में छपवाए हैं, उनमें उन्होंने लिखवाया है,

बिहार को गति चाहिए, बिहार को पंख चाहिए, बिहार को बदलाव चाहिए. क्योंकि बिहार को बेहतर मिलना चाहिए और बेहतर संभव है. बेमतलब की पॉलिटिक्स छोड़ो, प्लूरल्स से जुड़ो ताकि 2020 में बिहार दौड़ सके, उड़ सके.

पार्टी का लोगो

इनकी पार्टी का जो लोगो है वो सफ़ेद घोड़े का है जिसपर पंख लगे हैं. ग्रीक मिथक में इसे पेगासस के नाम से जाना जाता है. ये घोड़ा ज़मीन पर दौड़ने के साथ-साथ आसमान में उड़ भी सकता था. इसे शक्ति और तीव्रता का प्रतीक माना गया है. जो लाइनें पुष्पम ने अपनी पार्टी के लिए इस्तेमाल की हैं, उनमें भी गति और उड़ने का ज़िक्र आता है.

बिहार के अखबारों में छपे एक विज्ञापन ने राजनीतिक गलियारों में हलचल पैदा कर दी है। इस विज्ञापन में एक युवती ने बिहार में इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा से पहले खुद को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित कर दिया है। यह युवती कोई और नहीं बल्कि जेडीयू नेता विनोद चौधरी की बेटी पुष्पम प्रिया चौधरी है। पुष्पम लंदन में रहती है।

अखबारों में छपे विज्ञापन के अनुसार, पुष्पम ने नई राजनीतिक पार्टी ‘प्लूरल्स’ बनाया है और विज्ञापन के अनुसार, वह आगामी विधानसभा चुनाव में सीएम उम्मीदवार होंगी। वह किस सीट से चुनाव लड़ेंगी और उनके साथ कौन-कौन से नेता शामिल है इसकी कोई जानकारी उनकी तरफ से नहीं दी गई है। पुष्पम ने विज्ञापन में लिखा है जो बिहार से प्यार करते हैं और राजनीति से नफरत, उनके लिए ये प्लेटफॉर्म सही है।

कौन है पुष्पम प्रिया चौधरी?

खुद को बिहार में मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित कर चुकी पुष्पम दरअसल जनता दल (यूनाइटेड) के नेता विनोद चौधरी की बेटी हैं और लंदन में रहती है। अपनी नई राजनीतिक पार्टी प्लूरल्स के एड में पुष्पम ने लिखा है-  जो बिहार से प्यार करते हैं और राजनीति से नफरत, उनके लिए ये प्लेटफॉर्म सही है। बिहार को बेहतर की जरूरत है और बेहतर संभव है। पुष्पम लोगों को उनकी पार्टी ज्वाइन कर सत्ता में बैठे लोगों से ताकत छीनने को कह रही हैं। उन्होंने अपने फेसबुक और ट्विटर पर भी इसपर विज्ञापन देते हुए लिखा है कि हमारी पार्टी के पास 2025 और 2030 तक के लिए बिहार का रोडमैप और ब्लूप्रिंट तैयार है।

विज्ञापन में पुष्पम ने खुद को प्लूरल्स दल की अध्यक्ष बताया है। पुष्पम के ट्विटर डीटेल के अनुसार उन्होंने इंग्लैंड के द इंस्टीट्यूट ऑफ डेवलपमेंट स्टडीज विश्वविद्यालय से एमए इन डेवलपमेंट स्टडीज और लंदन स्कूल ऑफ इकोनोमिक्स एंड पॉलीटिकल साइंस से पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन में एमए किया है।

क्या बोले पुष्पम के पिता?

इसको लेकर एक टीवी चैनल से बातचीत में पुष्पम के पिता और जद(यु) नेता बिनोद चौधरी ने कहा कि पुष्पम बालिग लड़की है अपने फैसले ले सकती है और उसने सोच समझकर ही फैसला लिया होगा। मैं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का ही मंत्री रहूंगा।

Pushpam Priya Choudhary@pushpampc13

As Lasswell said, politics is who gets what, when and how. Following this, Bihar needs a blueprint and Plurals has a concrete roadmap for 2025 and 2030. Stay tuned for updates.

Twitter पर छबि देखें
560 लोग इस बारे में बात कर रहे हैं

 

Pushpam Priya Choudhary@pushpampc13

Bihar needs pace, Bihar needs wings, Bihar needs change. Because Bihar deserves better and better is possible. Reject bullshit politics, join Plurals to make Bihar run and fly in 2020.

Twitter पर छबि देखें
1,342 लोग इस बारे में बात कर रहे हैं

गौरतलब है कि दिल्ली विधानसभा चुनाव के बाद अब पूरे देश की निगाहें बिहार पर जा टिकी हैं। राजनीतिक दृष्टिकोण से एक अहम राज्य होने के नाते लगभग सभी सियासी दल अभी से तैयारी में जुट गए हैं। होली से पहले ही रैलियों और यात्राओं का दौर शुरू हो चुका है। सत्तारूढ़ बीजेपी, जद (यू) और लोजपा हो या फिर विपक्ष में बैठी आरजेडी, कांग्रेस, रालोसपा और जीतन राम मांझी की पार्टी हम, हर कोई सियासी गुणा-भाग करने लगी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here